You are here
Home > News

हवामान के जानकारो के अनुसार पुरे भारत मे जून महिने मे सामान्य से 4 प्रतिसत अधिक बारिश।

भारतिय किसान बारिश का अातूरता से ईतंजार करते है। क्यूं की ज्यादातर किसान बारिश पर निर्भर है,उन किसानो के लिए अच्छी खबर आई है। ईस साल जुन महिने की बारिश का प्रतिशत अच्छा रहा है। हवामान के जानकारो के अनुमानों के अनुसार जून में मॉनसून का प्रदर्शन अच्छा रहा है। केरल

एग्रो केमिकल्स मार्केट और बीज के क्षेत्र की दो बडी कंपनीयो का विलय लगभग तय। ईस साल का सब से बडा सौदा।

बायर एजी बुधवार को 66 अरब डोलर मे अमेरिकी बीज कंपनी मोन्सान्टो के अधिग्रहण की और अग्रेसर है, साल का सबसे बडा सौदा पक्का माना जा रहा है एसा मामले से परिचित लोगो का कहना है। रिकॉर्ड पर बायर के सबसे बड़े  नकद अधिग्रहण प्रस्ताव का स्वीकार करके मोन्सान्टो ने जर्मन

भारत मे सस्ते ईन्टरनेट डेटा से कृषि के क्षेत्र मे हो सकती है नई क्रांती।

राजनैतिक लोग नरेन्द्र मोदी के डीजीटल ईन्डिया के केम्पेईन को दर्शाते हुए एक विज्ञापन के मदेनजर जब "आटा"(गेहु का आटा ) vs. डेटा का बहस करते है तब ये विज्ञापन भारत मे सस्ता ईन्टरनेट डेटा प्राप्त करने की संभवना जगा रहा है। लेकीन सस्ता और तेजी से डेटा की उपलब्धता

भारत मे बुवाई के कुल विस्तार मे 4.16 प्रतिशत बढोतरी हुई और प्रमुख 91 जलाशयो के पानी के स्तर मे 17.09 प्रतिशत बढोतरी हुई।

भारत मे ईस साल खरीफ सिझन की बुवाई  4.16 प्रतिशत पीछले साल के मुकाबले ज्यादा हुई है। जबकी देश के 91 प्रमुख जलाशयो मे पानी का स्तर औसत से 17.09 प्रतिशत अधिक है। एसा सरकारी आंकडे बताते है। जून मे खरीफ मौसम के शुरूआत से 2 सितंबर तक, फसलो की बुवाई 1054.49

जानिये अरंडी के बीज की बुवाई के बारे मे भारत सरकार के आंकडे क्या कहते है।

अरंडी के बीज की बुवाई  2016-17 मे 25 से 40 प्रतिसत गिरावट होने की संभवना है क्यूकी किसान मूंगफली और दलहन की बुवाई  ज्यादा कर रहे है।भारत के सोलवन्ट एक्सट्रेक्टर्स एसोसिएशन (एसईए) के अनुसार पीछले तीन साल से अरंडी के तेल मे उच्च उत्पादन और मांग मे उतार-चढाव की वजह

महाराष्ट्र का किसानो से स्वदेशी कपास विकसित करने का आग्रह। ( Maharashtra urges farmers to grow indigenous variety of cotton )

  "गुजरात मे कपास की खेती करने वाले किसानो को पीछले साल गुलाबी बोलवर्म की वजह से भारी नुकशान उठाना पडा है, हम सावधान कर रहे हे कि एसा हमारे साथ भी एसा हो शकता हे" ये कहना हे श्री पांडुरंग फुंदकर का।     राज्य सरकार, राज्य के किसानो से आग्रह करना चाहती

ईस साल 4 करोड से अधिक किशानो द्रारा प्रधान मंत्री फसल बिमा योजना चुनने कि संभवना : राधा मोहन सिंह

केन्द्रिय कृषि मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने दावा किया हे कि प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना मे पीछले साल 3 करोड किशानोने चयन किया था वही ईस साल 4 करोड किशानो द्रारा ईस योजना के चयन की संभवना हे। "ईस योजना का मुख्य उदेश्य किशानो के लिए कृषि को जोखिम मुक्त

पूरे भारतमे ईस साल अच्छी बारिस से बुवाई के विस्तार मे हुई बढोतरी.

  नई दिल्ली : कृषि मंत्रालय के आंकडो के मुताबिक खरिफ फसलो कि बुवाई ईस साल 992.76 लाख हेक्टर अब तक हुई हे, जो पीछले साल ईस समय तक 938.57 लाख हेक्टर थी. पीछले साल के मुकाबले ईस साल काफी बढोतरी हुई हे. रिपोर्ट के मुताबिक, कपास कि बुवाई 101.54  लाख हेक्टर विस्तारमे

गुजरात : उड़द व तुअर की बुवाई मे बढत के बारे मे गुजरात कृषि विभाग के आंकडे.

20 अगस्त 2016 राज्य में वर्तमान खरीफ सत्र में कम मानसूनी वर्षा के बावजूद दलहनी फसलों के क्षेत्रफल में बढ़त देखी जा रही है। तुअर व उड़द दालों में खास बदलाव देखने को मिल रहा है | दलहनी फसलों के रकबे में सामान्य रकबे से लगभग 110 प्रतिशत तक बुवाई हो

Top